इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट ने रफ्तार पकड़ी, 500 दिनों से भी कम समय में मेट्रो सेवा शुरू होने की संभावना

इंदौर मेट्रो प्रोजेक्ट ने रफ्तार पकड़ी, 500 दिनों से भी कम समय में मेट्रो सेवा शुरू होने की संभावना

MPMRCL का लक्ष्य है कि अगले साल अगस्त में काम पूरा हो ताकि सितंबर के महीने में मेट्रो सेवा शुरू हो सके।

इंदौर में मेट्रो ट्रेन की सेवाएं शुरू करने की दिशा में मध्य प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड तेजी से काम कर रहा है। निर्माण कार्य ने हाल ही में गति पकड़ी है और उम्मीद है कि अगले साल सितंबर के महीने में ट्रायल रन शुरू हो जाएंगे। निगम ने प्रायोरिटी कॉरिडोर पर रेल या ट्रैक बिछाने के लिए टेंडर आमंत्रित किए हैं, अधिकारियों को उम्मीद है कि परियोजना का यह हिस्सा भी जल्द ही शुरू हो जाएगा।

इंदौर मेट्रो रेल कर्मचारियों के लिए की जा रही कंपनियों और एजेंसियों की स्क्रीनिंग

MPMRCL को सेवा के कर्मचारियों के लिए कंपनियों और एजेंसियों से कई आवेदन भी प्राप्त हुए हैं। टिकट और संचालन के लिए कर्मचारियों की स्क्रीनिंग अभी जारी है। हालांकि, मेट्रो स्टेशनों पर एक ऑटोमेटेड फेयर कलेक्शन सिस्टम लागू की जाएगी। इसके साथ ही परियोजना का दूसरा चरण भी शुरू हो गया है।

पिछले 10 महीनों में इंदौर मेट्रो परियोजना के पहले चरण में लगभग 35% काम पूरा हो चुका है। जैसा कि पहले चरण के लिए तय किया गया है, मेट्रो ट्रेन गांधी नगर और रोबोट स्क्वायर के बीच भावरसला, आईएसबीटी और विजय नगर के बीच चलेगी। यह 17.5 किलोमीटर की दूरी तय करेगा। समय सीमा के पालन के लिए मेट्रो स्टेशनों को भी तेजी से विकसित किया जा रहा है। निगम ने प्रदर्शन के उद्देश्य से मेट्रो स्टेशनों के कुछ एनिमेटेड वीडियो जारी किए हैं।

MPMRCL की वेबसाइट पर काउंटडाउन शुरू

इंदौर और भोपाल दोनों में मेट्रो सेवा शुरू करने के लिए सख्त समय सीमा निर्धारित की गई है। MPMRCL का लक्ष्य अगले साल अगस्त में काम पूरा करना है ताकि सितंबर के महीने में सेवा शुरू हो सके। उसी के लिए एक काउंटडाउन मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन की वेबसाइट के होमपेज पर भी दिखाई दे रही है। इसमें लिखा है, "इंदौर मेट्रो रेल - 17.5 किमी का प्रायोरिटी कॉरिडोर 486 दिनों में शुरू होगा"।

पहले चरण में गांधी नगर से रोबोट स्क्वायर के अलावा पलासिया, रेलवे स्टेशन, रजवाड़ा, एयरपोर्ट, भवरासला और एमआर-10 को रिंग लाइन से जोड़ने का भी लक्ष्य है। यह खंड 33.53 किलोमीटर लंबा होगा और इसमें मेट्रो ट्रेन के लिए एलिवेटेड कॉरिडोर और भूमिगत मार्ग दोनों शामिल होंगे। आईएसबीटी/एमआर-10 फ्लाईओवर और मुमताज बाग कॉलोनी के बीच इस समय 5.29 किलोमीटर की लंबाई का निर्माण किया जा रहा है। निगम का अनुमान है कि वर्ष 2027 तक यहां यात्री संख्या प्रतिदिन 2.5 लाख को पार कर जायेगी।

To get all the latest content, download our mobile application. Available for both iOS & Android devices. 

Related Stories

No stories found.
Knocksense
www.knocksense.com