कानपुर
कानपुर

कानपुर के 32 स्थानों पर लगाए गए इमरजेंसी स्मार्ट कॉल बॉक्स, एक बटन दबाने पर मिलेगी पुलिस सहायता

यह 'इमरजेंसी स्मार्ट कॉल बॉक्स' हाई-टेक कैमरा, स्पीकर और माइक से लैस है। और यह एक तरह से डिजिटल हेल्प-डेस्क का काम करेगा जिसका लाभ कोई भी ले सकता है।

क्या आप जानते हैं कि अब आप मोबाइल फोन न होने पर भी इमरजेंसी की स्थिति में कानपुर पुलिस से संपर्क कर सकते हैं !

नागरिकों की सुरक्षा को मजबूत करते हुए और जनता और पुलिस के बीच के कम्युनिकेशन को आसान बनाते हुए, कानपुर स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत शहर में 32 चौराहों पर 'हाई-टेक इमरजेंसी स्मार्ट कॉल बॉक्स' (Emergency smart call boxes) स्थापित किए गए हैं। कथित तौर पर, इन इमरजेंसी बॉक्सेस को कानपुर पुलिस कमिश्नरेट कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है, ताकि लोगों को 24×7 आपातकालीन सहायता प्रदान की जा सके।

पुलिस सहायता के लिए इमरजेंसी और पैनिक बटन 

कानपुर स्मार्ट सिटी ऑफिस
कानपुर स्मार्ट सिटी ऑफिस

उत्तर प्रदेश के सभी जिला पुलिस विभागों को इमरजेंसी हेल्पलाइन यूपी 112 के साथ इंटीग्रेट किया गया है, लेकिन एक विपत्ति में फंसे व्यक्ति को इस सुविधा के तहत तभी मदद मिल सकती है जब उसके पास मोबाइल फोन या पीसीओ की सुविधा हो। ऐसा कई बार संज्ञान में आया है कि कई मामलों में पीड़ित के पास या तो मोबाइल नहीं था या फिर मोबाइल किसी कारण उपयोग में नहीं था। इसी कारण पीड़ित व्यक्ति पुलिस से संपर्क नहीं कर पाया।

अब कानपुर पुलिस कमिश्नरेट ने जनता की इसी समस्या को समझते हुए यह नई सुविधा शुरू की है। इस नई पहल के तहत 'हाई-टेक इमरजेंसी स्मार्ट कॉल बॉक्स' (Emergency smart call boxes) के माध्यम से जनता और पुलिस के संपर्क को जोड़ने के लिए एक इंटीग्रेट प्रणाली बनायी गयी है। ये बॉक्स डिजिटल हेल्प-डेस्क के रूप में काम करते हैं, जिसमें हाई-टेक कैमरा, स्पीकर और माइक लगे होते हैं। जिन लोगों को पुलिस सहायता या सुरक्षा की आवश्यकता है, वे केवल इन बॉक्स में लगे इमरजेंसी बटन को दबाकर बातचीत शुरू कर सकते हैं।

जैसे ही व्यक्ति इमरजेंसी बटन को दबाएगा, कानपुर पुलिस कमिश्नरेट के कंट्रोल रूम में अलर्ट जेनरेट हो जाएगा और यहां का एक जनसंपर्क अधिकारी व्यक्ति के साथ वीडियो कॉल शुरू कर सकेगा।

इसके अलावा, कॉल बॉक्स में एक पैनिक बटन भी होता है, जिसका इस्तेमाल तत्काल सुरक्षा और मदद के लिए किया जा सकता है। विशेष रूप से महिलाओं और युवतियों के लिए बनाया गया पैनिक बटन महिला सुरक्षा को मजबूत करने और महिलाओं के खिलाफ अपराधों पर नकेल कसने की दिशा में एक बड़ा कदम है। अधिकारियों ने कहा कि इस सुविधा का इस्तेमाल कोई भी जरूरतमंद व्यक्ति भी कर सकता है।

शहर के इन 32 स्थानों पर इमरजेंसी स्मार्ट कॉल बॉक्स की सुविधा उपलब्ध है

कानपुर
कानपुर

घंटाघर स्क्वायर, गौशाला सेकेंड स्क्वायर, बगिया क्रॉसिंग, आईटी गेट तिराहा, रॉकेट तिराहा, बेकरगंज स्क्वायर, बगही चौक तिराहा, गोपाल तिराहा, फायर सर्विस (फजलगंज) तिराहा, भाटिया तिराहा, लेनिन पार्क स्क्वायर, संगीत टॉकीज तिराहा, चंद्रिका देवी मंदिर स्क्वायर, बांसमंडी स्क्वायर, पिरोद तिराहा, रामबाग स्क्वायर, अशोक नगर स्क्वायर, स्वरूप नगर स्क्वायर, राजीव पेट्रोल पंप स्क्वायर, सेल्स टैक्स स्क्वायर।

मैनावती मार्ग तिराहा, सिंहपुर टर्न, सिल्वरटन तिराहा, कबड्डी स्क्वायर, नहरिया स्क्वायर, एमजी कॉलेज स्क्वायर, आईएमए तिराहा, हनुमान मंदिर / त्रिमूर्ति मंदिर टर्न स्क्वायर, सैनिक स्क्वायर, पशुपति नगर स्क्वायर, मचरली गेट तिराहा, केशव नगर स्क्वायर, गौशाला फर्स्ट स्क्वायर, मिलिट्री कैंप स्क्वायर, खोवा मंडी तिराहा, डीबीएस तिराहा, नंदलाल स्क्वायर, सीटीआई तिराहा।

जनता नगर तिराहा, फोर पिलर स्क्वायर, एमआईजी तिराहा, शनिदेव मंदिर तिराहा, साल्ट फैक्ट्री स्क्वायर, विजय नगर फ्रूट मार्केट स्क्वायर, शास्त्री नगर गल्ला मंडी स्क्वायर, नीरझीर स्क्वायर और पांडुनगर स्क्वायर।

अधिकारियों ने कहा कि यदि यह परियोजना लाभकारी साबित होती है, तो इसे कानपुर शहर और अन्य जिलों के सभी हिस्सों में बढ़ाया जाएगा।

To get all the latest content, download our mobile application. Available for both iOS & Android devices. 

Related Stories

No stories found.
Knocksense
www.knocksense.com