लखनऊ में सड़क सुरक्षा माह के तहत पुलिस लोगों को फूल और पंपलेट देकर कर रही जागरूक

लखनऊ में सड़क सुरक्षा माह के तहत पुलिस लोगों को फूल और पंपलेट देकर कर रही जागरूक

ट्रैफिक जागरूकता अभियान का उद्देश्य दुर्घटनाओं की संख्या को कम करना और नागरिकों को यातायात नियमों से अवगत कराना है।

उत्तर प्रदेश में 18 मई से 18 जून तक सड़क सुरक्षा माह (road safety month) मनाया जा रहा है। इसके एक हिस्से के रूप में लखनऊ में सड़कों पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एक ट्रैफिक जागरूकता अभियान शुरू किया गया है। यूपी सड़क सुरक्षा अभियान के तहत, लखनऊ भर में विभिन्न कार्यक्रम, बाइक रैलियां और जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं।

इन पहलों के माध्यम से लखनऊ पुलिस नें ट्रैफिक पुलिस विभाग के साथ मिलकर सड़कों को सभी के लिए सुरक्षित बनाने के लिए नागरिकों में जागरूकता पैदा करने प्रयास कर रही है।

इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में छात्रों के लिए आयोजित कार्यक्रम

गौरतलब है कि लखनऊ में बीते सोमवार को युवाओं में जागरूकता पैदा करने के लिए इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। यातायात नियमों, सड़क पर आने वाली समस्याओं और उनके समाधान के बारे में अधिक जानने के लिए शहर के विभिन्न स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों और शिक्षण कर्मचारियों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश के अनुसार, यह आयोजन उत्तर प्रदेश में 18 मई से 18 जून तक मनाए जा रहे सड़क सुरक्षा माह के उत्सव का एक हिस्सा था। सभा में, डीएम ने छात्रों को शराब पीकर गाड़ी चलाने से होने वाली बीमारियों की जानकारी दी और उन्हें सवारी करते समय ओवरस्पीडिंग और स्टंट करने से परहेज करने को कहा।

सभी के लिए सुरक्षित सड़कें सुनिश्चित करेगा जागरूकता अभियान

इसके अलावा लखनऊ के महत्वपूर्ण चौराहों जैसे अटल चौक, 1090 महिला पावर लाइन क्रॉसिंग आदि पर यातायात पुलिसकर्मी शहर के लोगों को बुनियादी यातायात नियमों के साथ पर्चे भी बांट रहे हैं। इसके अलावा, इन नियमों का पालन करने के महत्व को लोगों तक पहुंचाने के लिए एक डेडिकेटेड वाहन शहर के चक्कर लगा रहा है जिसपर यातायात नियमों के पोस्टर लगे हुए हैं।

इस अभियान के माध्यम से प्रशासन का उद्देश्य दुर्घटनाओं की संख्या को कम करना, यातायात को सुव्यवस्थित करना और नागरिकों के बीच यातायात नियमों के बारे में जागरूकता फैलाना है।

To get all the latest content, download our mobile application. Available for both iOS & Android devices. 

Related Stories

No stories found.
Knocksense
www.knocksense.com