Graphical Representation
Graphical Representation

UP में बनेंगे 6 नए एक्सप्रेसवे, हरिद्वार और वाराणसी भी गंगा एक्सप्रेसवे से जुड़ जाएंगे

यूपी में पहले से ही 6 एक्सप्रेसवे है जिनपर सुचारु रूप से ट्रैफिक संचालित हो रहा है, वहीं 7 एक्सप्रेसवे निर्माणधीन है।

उत्तर प्रदेश में रोड कनेक्टिविटी को बेहतर करने और एक्सप्रेसवे का विशाल नेटवर्क बनाने के लिए प्रदेश सरकार लगातार काम कर रही है। और अब सरकार प्रदेश में 6 और नए एक्सप्रेसवे का निर्माण करने जा रही है।

मुख्यमंत्री ने बीते मंगलवार को हुई कैबिनेट बैठक में निर्देश दिए थे कि औद्योगिक विकास के मद्देनजर दूरदराज के इलाकों को जोड़ने के लिए कुछ और एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जाना चाहिए। और इसी के तहत प्रदेश में 6 नए एक्सप्रेसवे को बनाने का प्रस्ताव जारी कर दिया गया है।

हरिद्वार और वाराणसी भी गंगा एक्सप्रेसवे से जुड़ जाएंगे

उत्तर प्रदेश के प्रमुख धार्मिक शहरों को जोड़ने के लिए 6 नए एक्सप्रेसवे प्रस्तावित हैं, इससे हरिद्वार और वाराणसी भी गंगा एक्सप्रेसवे से जुड़ जाएंगे। गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना के द्वितीय चरण में मेरठ से हरिद्वार और प्रयागराज से वाराणसी तक ग्रीन फील्ड वे का प्रस्ताव है। इस एक्सप्रेसवे से शाहजहांपुर, बरेली होते हुए रामपुर-रुद्रपुर (उत्तराखंड सीमा) तक एक एक्सप्रेसवे का निर्माण कराए जाने का प्रस्ताव है। इसी तरह से चित्रकूट धाम को प्रयागराज होते हुए गंगा एक्सप्रेसवे से जोड़ दिया जाता है, तो पश्चिमी उत्तर व पूर्वी उत्तर प्रदेश और बुंदेलखंड से आने वाला ट्रैफिक सुगम हो जाएगा। ठीक इस तरह से झाँसी लिंक एक्सप्रेसवे (बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से) और विंध्य एक्सप्रेसवे (चित्रकूट से मिर्ज़ापुर) की भी योजना तैयार की गई है।

7 एक्सप्रेसवे निर्माणाधीन है

गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे 91 किलोमीटर

गंगा एक्सप्रेसवे 594 किलोमीटर

लखनऊ कानपूर 63 किलोमीटर

गाजियाबाद-कानपुर 380 किलोमीटर

गोरखपुर-सिलीगुड़ी 519 किलोमीटर

दिल्ली-सहारनपुर-देहरादून 210 किलोमीटर

गाजीपुर-बलिया 117 किलोमीटर

आपको बताते चलें कि यूपी में पहले से ही 6 एक्सप्रेसवे है जिनपर सुचारु रूप से ट्रैफिक संचालित हो रहा है, वहीं 7 एक्सप्रेसवे निर्माणधीन है। अब 6 नए प्रस्तावित एक्सप्रेसवे से यूपी में कुल 19 एक्सप्रेसवे हो जाएंगे और यूपी देश में सर्वाधिक एक्सप्रेसवे वाला देश का पहला राज्य हो जाएगा।

Graphical Representation
NHAI का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज, 105 घंटे 33 मिनट में बनाई 75 किलोमीटर लंबी सड़क
Graphical Representation
3 घंटे में पूरा होगा गाजियाबाद से कानपुर तक का सफर, बनने जा रहा 380 किमी लंबा एक्सप्रेसवे
Graphical Representation
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे - अब मात्र 6 घंटे में पूरा होगा चित्रकूट से दिल्ली तक का सफर, जानें खासियत
Graphical Representation
जल्द ही किलोमीटर के हिसाब से वसूला जाएगा टोल टैक्स, FASTag सिस्टम को खत्म करने की तैयारी में सरकार
Graphical Representation
NHAI ने लखनऊ-कानपुर एक्सप्रेसवे का निर्माण कार्य किया शुरू, कानपुर रोड पर तोड़ा जा रहा अवैध निर्माण
Graphical Representation
NHAI और JDA मिलकर करेंगे आगरा-दिल्ली रिंग रोड पर ट्रांसपोर्ट कॉरिडोर का निर्माण

To get all the latest content, download our mobile application. Available for both iOS & Android devices. 

Related Stories

No stories found.
Knocksense
www.knocksense.com