Flower Valleys Of India - स्वर्ग से भी मनोहर है भारत की इन 5 फूलों की घाटियों की खूबसूरती

Flower Valleys Of India - स्वर्ग से भी मनोहर है भारत की इन 5 फूलों की घाटियों की खूबसूरती

यहां भारत की सबसे खूबसूरत फ्लावर वैली की एक सूची दी गई है जहाँ की हरियाली और रंग सपनों जैसे सुन्दर हैं।

भारतीय उपमहाद्वीप अपनी समृद्ध जैव विविधता के लिए जाना जाता है। और इस जैव विविधता का एक अनूठा और अभिन्न अंग हैं फूलों की घाटियां याने की फ्लावर वैली ( Valley of Flowers) जो चमकीले रंगों, फूलों की खुशबू और शांति से भरपूर है। तो अगर फूलों से सजे रंगीन मैदानों में घूमना और प्रकृति के भरपूर सौंदर्य का आनंद लेना आपके लिए एक सुखद दिन का विचार है, तो यहां भारत की सबसे खूबसूरत फ्लावर वैली की एक सूची दी गई है जहाँ की हरियाली और रंग सपनों जैसे सुन्दर हैं।

युमथांग वैली (सिक्किम)

3596 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, सिक्किम में युमथांग (Yumthang) घाटी वह जगह है जहां आप अपनी सारी फ़िल्मी ख्वाहिशों को पूरा कर सकते हैं। बर्फ से ढके पहाड़ों के साथ फूलों की क्यारियों पर कदम रखने के मज़ेदार अनुभव के लिए आपको यहाँ जाना होगा। Cinquefoils, Rhododendrons, Iris, Poppies, Lousworts, Primroses, और Cobra-lilies युमथांग घाटी को फरवरी के अंत से मध्य जून तक रोशन करते हैं और मिलकर एक ऐसा नज़ारा आपकी आँखों के सामने रखते हैं जिसपर विश्वास करने में आपको मुश्किल होगी। युमथांग में ही रोडोडेंड्रोन (Rhododendrons) अपनी शानदार 24 विभिन्न किस्मों में खिलता है।

कास प्लैट्यू (महाराष्ट्र)

अगर हम एक सुपर हीरो होते, तो हम बस एक खूबसूरत फूलों की घाटी से दूसरे में कूद जाते क्यूंकि सभी इतनी खूबसूरत हैं। महाराष्ट्र में कास प्लैट्यू हर फोटोग्राफर और बॉटनिस्ट का सपना होता है, क्योंकि यहां अगस्त के अंत से सितंबर तक विभिन्न प्रकार के 850 फूल खिलते हैं। लेकिन इस प्लॉट में ट्विस्ट है। आपको इस जगह का बैंगनी-नीले रंगों से सजी हुई दुनिया में बदलने का इंतजार करना होगा क्योंकि ये फूल हर सात साल में केवल एक बार खिलते हैं। टूथब्रश आर्किड, दीपकड़ी फूल और भारतीय ऐरोरुट (Indian Arrowroot) उन कई किस्मों में से हैं जो इस प्लैट्यू को रंगों से सजाते हैं और हमें लगता है कि फूलों के खिलने के बाद का नज़ारा हर इंतज़ार के लायक है।

ट्यूलिप गार्डन (कश्मीर)

यूँ तो हमें पृथ्वी पर स्वर्ग देखने जाने के लिए और कारणों की आवश्यकता नहीं है। लेकिन कश्मीर के ट्यूलिप गार्डन को 2017 में कनाडा के ट्यूलिप समिट में दुनिया के टॉप 5 में से एक का खिताब हासिल हुआ। ट्यूलिप गार्डन अपने आप में भारत की समृद्ध जैव विविधता का एक चमकदार वसीयतनामा है। हर साल, मार्च से मई तक, गार्डन स्प्रिंग के दौरान जब फूल पूर्ण रूप से खिलने हैं तो अपने वार्षिक उत्सव का आयोजन करता है। सिल्वन ज़बरवान रेंज (sylvan Zabarwan Range) की तलहटी में ट्यूलिप और डैफोडील्स को अपनी पूर्ण सुंदरता में देखने के लिए ज़रूर जाएँ।

मुन्नार वैली,केरल

अगर आपको लगता है कि मुन्नार में कॉफी और चाय के बागान हैं, तो आप शायद सितंबर के अंत से अक्टूबर की शुरुआत के दौरान यहाँ जा सकते हैं, जब जादू होता है। पश्चिमी घाट के शोला वन में आपको नीलकुरजी (Neelakurji) नाम का एक फूल नज़र आएगा, जो एक दुर्लभ लैवेंडर रंग का फूल है जो अगस्त से अक्टूबर तक 12 सालों में एक बार खिलता है। एक बार जब आप इस इस स्वर्ग जैसी जगह में होंगे तो आपको आपको अपनी आँखों पर विश्वास नहीं होगा।

उत्तराखंड वैली ऑफ़ फ्लावर्स

हम नहीं जानते कि स्वर्ग कैसा दिखता है, लेकिन हमें यकीन है कि यह उत्तराखंड में फूलों की घाटी से ज़रूर मिलता जुलता होगा। ब्रह्म कमल, येलो कोबरा लिली, जैक्वेमोंट कोबरा लिली, वालिच कोबरा लिली, एलिगेंट स्लिपर ऑर्किड, हिमालयन स्लिपर ऑर्किड, हिमालयन मार्श ऑर्किड फूल का यह एक समुद्र है जिसे आपको अपने जीवन में कम से कम एक बार देखने की आवश्यकता है। भूंदर वैली, जहां ये फूल खिलते हैं, यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है। 6.2 मील की हल्की ट्रेक के बाद, फूलों की घाटी पर एक नज़र डालें और आप उन चमत्कारों पर विश्वास करेंगे जो प्रकृति माँ करने में सक्षम हैं। याद रखें, की ये फूल केवल जून से सितंबर तक खिलते हैं।

To get all the latest content, download our mobile application. Available for both iOS & Android devices.