इंदौर नगर निगम ने शहर में 3 जगहों पर वेंडरों और फेरीवालों के अस्थाई प्रतिष्ठानों को गिराया

इंदौर नगर निगम ने शहर में 3 जगहों पर वेंडरों और फेरीवालों के अस्थाई प्रतिष्ठानों को गिराया

इंदौर में सड़क व अन्य जगहों को जाम करने वाले वेंडरों व फेरीवालों की समस्या लंबे समय से बनी हुई है।

इंदौर नगर निगम (आईएमसी) ने बीते 3 फरवरी को कृष्ण पुरा छत्री से जवाहर मार्ग (नंदलापुरा रोड) और इतवारिया बाजार तक सब्जी विक्रेताओं और उनके अतिक्रमित स्टॉल और गाड़ियों को हटा दिया। यह सभी अवैध प्रतिष्ठान सड़कों और पार्किंग स्पॉट पर अधिक भीड़ और कब्जा करने का मुख्य कारण थे जिसके कारण आम जनमानस को समस्या होती थी।

4 ट्रक भर के सामग्री जब्त की गई

कृष्ण पुरा छत्री से जवाहर मार्ग और पालदा नाका से नयता मुंडला तक करीब 25 शेड और दुकानें हटाई गईं। इसके अलावा 20 ठेले भी जब्त किए गए हैं। इतवारिया बाजार क्षेत्र में 20 से अधिक सब्जी विक्रेताओं को हटाया गया। इतवारिया बाजार से चार ट्रकों में टिन शीट, लकड़ी आदि भवन निर्माण सामग्री भरी गई। यहां अतिक्रमण करने वालों ने पार्किंग की पहली और दूसरी मंजिल पर कब्जा कर लिया था।

जनवरी से वेंडरों को हटाने व स्थानांतरित करने का कार्य चल रहा है

इंदौर में सड़क व अन्य जगहों को जाम करने वाले वेंडरों व फेरीवालों की समस्या लंबे समय से बनी हुई है। पिछले महीने बजरंग स्क्वायर और पटनीपुर के बीच सब्जी विक्रेताओं द्वारा किए गए इन अवैध अतिक्रमण को विक्रेताओं के सहयोग से हटाया गया था।

आईएमसी की उपायुक्त, लता अग्रवाल ने पुष्टि की कि राजकुमार रेलवे ओवरब्रिज के नीचे कुल 98 विक्रेताओं को अपना व्यवसाय करने के लिए स्थानांतरित किया गया था। स्थानांतरण से वाहनों में सवार यात्रियों को काफी राहत मिली है।

हालांकि, मालवा मिल और राजकुमार मिल क्षेत्रों में इसी तरह के निष्कासन के दौरान विक्रेताओं ने अधिकारियों के प्रति नारजगी ज़ाहिर की थी। सहायक राजस्व अधिकारी जितेंद्र पांडेय द्वारा तुकोगंज थाने में कुछ दुकान मालिकों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी। इन क्षेत्रों के विक्रेताओं को राजकुमार रेलवे ओवर ब्रिज के नीचे स्थानांतरित किया गया था।

To get all the latest content, download our mobile application. Available for both iOS & Android devices. 

Related Stories

No stories found.
Knocksense
www.knocksense.com